fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar

एफ्रो - अमेरिकन कविताएँ / -मारी ईवान्स, निक्की जिओवानी, एलिस वॉकर

विपिन चौधरी
मैं एक अश्वेत स्त्री (मारी ईवान्स)

मैं एक अश्वेत स्त्री हूँ
मेरे गीतों की धुन,
आँसुओं की आर्पेजीओ* है
जिसे माइनर की* में लिखा गया है
रात को इन स्वरों की गुनगुनाहट सुनती हूँ,
सुनती हूँ रात के समय
बन्द होठों से गाया गीत

मैंने अपने साथी को समन्दर पर उछलते चिल्लाते हुए सुना
और अपने हाथों
मेरे हिस्से की प्राणवायु को कैनब्रैक के प्याले में उडेल दिया
विद्रोही नेट टर्नर की लहराती हुई देह को
मैंने आँसू की बारिश में खो दिया

अंजिओ के युद्धस्थल से अपने बेटे की शान्ति की पुकार सुनी
उस शान्ति की
जिसके बारे में मेरा बेटा कुछ नहीं जानता
वियतनाम के शहर डॉ नांग और
पोर्क चोप हिल के युद्ध के बारे में जानकर मैं तडप उठी
अब मेरी नाक,
उस गैस की गन्ध को पहचानने लगी है
और मेरी उँगलियाँ,
बन्दूक के ट्रिगर को दबाने वाले
मेरे योद्धा की दाढी में
कोमलता तलाशने लगती हैं

स्थान और समय
और हालात को ललकारती,
धावा बोलती हुई
मजबूत,
अप्रभावित,
अविनाशी,
अभी तक की सभी परिभाषाओं को ठेंगा दिखाते हुए
मैं
सुरू जैसी लम्बी
एक अश्वेत स्त्री

देखो मेरी तरफ और
बदल दो अपने आप को -



* अर्पेगियो- एक आर्पेगियो एक टूटा हुआ राग है जिसमें अलग-अलग नोटों को एक-एक करके बजाया
जाता है.
* मामूली मोड में एक संगीत कुंजी





कौन अश्वेत ऐसा होगा
जिसे अपनी खुशियों और
चुनौतियों को गीतों में ढाल कर
गुनगुनाना ना आता हो

और भविष्य की एकता के लिए
एकजुट होकर
सच्चे ज्ञान की आग से सिहरते हुए घूमघूम कर,
ऊँची से ऊँची आवाज की झन्कार से फूटते हुए,
स्वयं की महिमा के लिए
एक साथ आकर
नृत्य करना न जानता हो
और अश्वेत के रूप में जनमने वाला
ऐसा कौन व्यक्ति होगा
जो अपनी इन सभी खूबियों पर
फूला न समाता होगा !








स्काई डाइविंग (निक्की जिओवानी)

ब्रह्माण्ड के किनारे पर लटकते हुए
बेसुरा गाते हुए,
बहुत जोर से बातें करते हुए
गिरने से बचने के लिए
खुद को समेट लेती हूँ

गहरे अन्तरिक्ष में
मैं उलट जाऊँगी या
पृथ्वी पर वापिस लौट आने के भावना के साथ नहीं

यह दुखद नहीं है

मैं ब्रह्माण्ड के ब्लैक-होल में
अपने त्वचा के अंगों को खोते हुए
कुण्डली मार लेती हूँ
मेरी देह भीतर के अंग
मेरी नग्न आत्मा को
भेदने लगते हैं
किसी दूसरी आकाशगंगा पर केवल
इस एक एहसास के साथ उतरती हूँ
मानो
देख रही हूँ
मैं सिर्फ
तुम्हारा ही सपना

मैं तुम्हारे लिए एक पूरा इन्सान लाऊँगी
और तुम मेरे लिए व्यक्तित्व लेकर आओगे
और हमारे पास प्रेम और बाकी सारी चीजें
दोगुनी होंगी

मैं लेकर या रही हूँ अपना पूरा हृदय
जबकि मेरे हृदय में खरोंच और
गड्ढे और निशान हैं,
इसीलिए मुझे अपने दिल को थोडी अधिक
हिफाजत से नीचे रखना है
तुम अपना पूरा हृदय लेकर आ रहे हो
जो एक नन्हा सा पिचका-सा और
जंग खाया हुआ दिल है
वह कभी-कभी धडकना भी भूल जाता है, लेकिन
फिर भी आखिरकार तुम उसे सँवारकर भी
लेकर आ सकते हो
अगर तुम उसे चमकाने का इरादा करते हो
और हम ला रहे हैं,
हम सभी लेकर आ रहे हैं
एक-दूसरे को आपस में लपेटने के लिए
स्वयं का संगीत

साफगोई से माफी माँगते हुए
बजानेवाले के आखिरी सुस्त नोट-सा
हमारे निजी मेल सा कोमल

मैं तुम्हारे लिए कुछ सम्पूर्ण लाने जा रही हूँ
और तुम भी मेरे लिए कुछ पूरा लाओगे
और हम दोगुने मजबूत होंगे
और हम दुगुने सच्चे होंगे

और हमारे पास प्रेम और सभी कुछ
दोगुना होगा














अगर मैं वह नहीं कर सकती
जो करने का मेरा मन है
फिर मेरा उस चीज को नहीं करना
जो मुझे नहीं करनी,
तो मुझे वह नहीं करना चाहिए
यह एक जैसी बात नहीं है
लेकिन यही मैं सबसे अच्छे से कर सकती हूँ

अगर मैं वह नहीं कर सकती जो मैं करना चाहती हूँ
तब मेरा काम यह चाहना होता है
कि कुछ मुझे मिला है
उसी में मैं संतुष्ट हूँ
कि कम से कम मेरे पास
चाहने को कुछ और भी है

चूंकि मैं वहाँ नहीं जा सकती
जहाँ मुझे जाना चाहिए
तब मुझे वहीं जाना चाहिए
जहाँ जाने की ओर मुझे इशारा मिला है
हालाँकि हमेशा यह समझते हुए कि
समानान्तर चलना,
पार्श्व में चलना नहीं होता





जब मैं व्यक्त नहीं कर सकती कि
वास्तव में क्या महसूस कर रही हूँ
मैं महसूस करने का अभ्यास करती हूँ
किमैं क्या व्यक्त कर सकती हूँ
और इन दोनों चीजों में समानता नहीं है
यह मैं जानती हूँ
इसीलिए मानवीयता जानवरों के साथ है
जो उन्हें रोना सीखाती है






अभिलाषा ( एलिस वॉकर)


हमेशा से मेरी इच्छाएँ एक जैसी रहती है
जहाँ कहीं भी जीवन मुझे समेटता है
मैं अपने पाँव के अँगूठे पर टिकी रहना चाहती हूँ
और जल्द ही मेरा सारा शरीर
पानी होता है
मैं एक मोटी झाडू लहरा कर
सूखे पत्ते,
कुचले हुए फूल,
मृत कीडे,
और धूल को बुहारना चाहती हूँ

मैं कुछ अँकुरित करना चाहती हूँ
ऐसा असम्भव लगता है कि
इच्छा किसी समय,
लगन में तब्दील हो जाए
अक्सर ऐसा होता है और इसी तरह से
मैं जीवित रहती आई हूँ
कैसे मैंने अपने हृदय के बगीचे में
सावधानी से एक गड्ढा किया
फिर उस गड्ढे को भरने के लिए
एक हृदय उगाया


बन्दूक के ट्रिगर को दबाने वाले
मेरे योद्धा की दाढी में
कोमलता तलाशने लगती हैं

स्थान और समय
और हालात को ललकारती,
धावा बोलती हुई
मजबूत,
अप्रभावित,
अविनाशी,
अभी तक की सभी परिभाषाओं को ठेंगा दिखाते हुए
मैं
सुरू जैसी लम्बी
एक अश्वेत स्त्री

देखो मेरी तरफ और
बदल दो अपने आप को -

* अर्पेगियो- एक आर्पेगियो एक टूटा हुआ राग है जिसमें अलग-अलग नोटों को एक-एक करके बजाया
जाता है.
* मामूली मोड में एक संगीत कुंजी

कौन जन्मता है अश्वेत? (मारी ईवान्स)

कौन अश्वेत ऐसा होगा
जिसे अपनी खुशियों और
चुनौतियों को गीतों में ढाल कर
गुनगुनाना ना आता हो

और भविष्य की एकता के लिए
एकजुट होकर
सच्चे ज्ञान की आग से सिहरते हुए घूमघूम कर,
ऊँची से ऊँची आवाज की झन्कार से फूटते हुए,
स्वयं की महिमा के लिए
एक साथ आकर
नृत्य करना न जानता हो
और अश्वेत के रूप में जनमने वाला
ऐसा कौन व्यक्ति होगा
जो अपनी इन सभी खूबियों पर
फूला न समाता होगा !

उत्सव ( मारी ईवान्स)

मैं तुम्हारे लिए एक पूरा इन्सान लाऊँगी
और तुम मेरे लिए व्यक्तित्व लेकर आओगे
और हमारे पास प्रेम और बाकी सारी चीजें
दोगुनी होंगी

मैं लेकर या रही हूँ अपना पूरा हृदय
जबकि मेरे हृदय में खरोंच और
गड्ढे और निशान हैं,
इसीलिए मुझे अपने दिल को थोडी अधिक
हिफाजत से नीचे रखना है
तुम अपना पूरा हृदय लेकर आ रहे हो
जो एक नन्हा सा पिचका-सा और
जंग खाया हुआ दिल है
वह कभी-कभी धडकना भी भूल जाता है, लेकिन
फिर भी आखिरकार तुम उसे सँवारकर भी
लेकर आ सकते हो
अगर तुम उसे चमकाने का इरादा करते हो
और हम ला रहे हैं,
हम सभी लेकर आ रहे हैं
एक-दूसरे को आपस में लपेटने के लिए
स्वयं का संगीत

साफगोई से माफी माँगते हुए
बजानेवाले के आखिरी सुस्त नोट-सा
हमारे निजी मेल सा कोमल

मैं तुम्हारे लिए कुछ सम्पूर्ण लाने जा रही हूँ
और तुम भी मेरे लिए कुछ पूरा लाओगे
और हम दोगुने मजबूत होंगे
और हम दुगुने सच्चे होंगे

और हमारे पास प्रेम और सभी कुछ
दोगुना होगा

स्काई डाइविंग (निक्की जिओवानी)

ब्रह्माण्ड के किनारे पर लटकते हुए
बेसुरा गाते हुए,
बहुत जोर से बातें करते हुए
गिरने से बचने के लिए
खुद को समेट लेती हूँ

गहरे अन्तरिक्ष में
मैं उलट जाऊँगी या
पृथ्वी पर वापिस लौट आने के भावना के साथ नहीं

यह दुखद नहीं है

मैं ब्रह्माण्ड के ब्लैक-होल में
अपने त्वचा के अंगों को खोते हुए
कुण्डली मार लेती हूँ
मेरी देह भीतर के अंग
मेरी नग्न आत्मा को
भेदने लगते हैं
किसी दूसरी आकाशगंगा पर केवल
इस एक एहसास के साथ उतरती हूँ
मानो
देख रही हूँ
मैं सिर्फ
तुम्हारा ही सपना
विकल्प ( निक्की जिओवानी)
अगर मैं वह नहीं कर सकती
जो करने का मेरा मन है
फिर मेरा उस चीज को नहीं करना
जो मुझे नहीं करनी,
तो मुझे वह नहीं करना चाहिए
यह एक जैसी बात नहीं है
लेकिन यही मैं सबसे अच्छे से कर सकती हूँ

अगर मैं वह नहीं कर सकती जो मैं करना चाहती हूँ
तब मेरा काम यह चाहना होता है
कि कुछ मुझे मिला है
उसी में मैं संतुष्ट हूँ
कि कम से कम मेरे पास
चाहने को कुछ और भी है

चूंकि मैं वहाँ नहीं जा सकती
जहाँ मुझे जाना चाहिए
तब मुझे वहीं जाना चाहिए
जहाँ जाने की ओर मुझे इशारा मिला है
हालाँकि हमेशा यह समझते हुए कि
समानान्तर चलना,
पार्श्व में चलना नहीं होता





जब मैं व्यक्त नहीं कर सकती कि
वास्तव में क्या महसूस कर रही हूँ
मैं महसूस करने का अभ्यास करती हूँ
किमैं क्या व्यक्त कर सकती हूँ
और इन दोनों चीजों में समानता नहीं है
यह मैं जानती हूँ
इसीलिए मानवीयता जानवरों के साथ है
जो उन्हें रोना सीखाती है






अभिलाषा ( एलिस वॉकर)


हमेशा से मेरी इच्छाएँ एक जैसी रहती है
जहाँ कहीं भी जीवन मुझे समेटता है
मैं अपने पाँव के अँगूठे पर टिकी रहना चाहती हूँ
और जल्द ही मेरा सारा शरीर
पानी होता है
मैं एक मोटी झाडू लहरा कर
सूखे पत्ते,
कुचले हुए फूल,
मृत कीडे,
और धूल को बुहारना चाहती हूँ

मैं कुछ अँकुरित करना चाहती हूँ
ऐसा असम्भव लगता है कि
इच्छा किसी समय,
लगन में तब्दील हो जाए
अक्सर ऐसा होता है और इसी तरह से
मैं जीवित रहती आई हूँ
कैसे मैंने अपने हृदय के बगीचे में
सावधानी से एक गड्ढा किया
फिर उस गड्ढे को भरने के लिए
एक हृदय उगाया


सम्पर्क - हाऊस नम्बर 1008, हाऊसिंग बोर्ड कॉलोनी, सेक्टर-15ए, हिसार- 125001 (हरियाणा)
मो. 98998-65514