fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar

साहित्य समाचार

स्मृति में विजयशंकर...
1-2 मई, नागपुर। क कला संपदा एवं वैचारिकी और श्रम-आश्रम के संयुक्त तत्वाधान में कवि, चिंतक विजय शंकर जी की स्मृति में विशेष कार्यक्रम का आयोजन दीनानाथ स्कूल धंतोली के सभागार में संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम के पहले चरण में विजय स्मृति स्मारिका का विमोचन किया गया। इस अवसर पर माधुरी वेडेकर और दिनकर वेडेकर का दम्पती द्वारा उनकी चुनिन्दा कविताओं का सस्वर पाठ किया गया। इस कार्यक्रम के दूसरे महत्त्वपूर्ण चरण में डॉक्टर कल्याणी देशमुख का गायन सम्पन्न हुआ। उन्होंने कबीर के भक्ति पदों का विधिवत गायन किया। कश्मीर से ताल्लुक रखनेवाले जाने-माने कवि अग्निशेखर द्वारा विजयशंकर की कविताओं के मर्म पर एक भावसम्मत टिप्पणी की गई। दिल्ली से आये क कला संपदा....सह-सपादक मनोज मोहन ने उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला। कलाकार विजेंद्र एस विज द्वारा क समारोह के आगामी आयोजनों की रूपरेखा को सामने रखा। इस कार्यक्रम का संचालन कवि चित्रकार अमित कल्ला द्वारा किया गया। कार्यक्रम के समापान पर वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता असित सिन्हा ने सभी अतिथियों और कलाकारों का आभार व्यक्त किया।
- वंदना सोलंकी

साहित्य मनुष्य की गरिमा को बचाए रखने का माध्यम है : भारद्वाज
शालिनी अग्रवाल के दो काव्य संग्रहों का लोकार्पण जयपुर 28 अप्रेल। वरिष्ठ कवि और प्रतिष्ठित साहित्यकार नंद भारद्वाज ने कहा है कि साहित्य मनुष्य की गरिमा को बचाए रखने का सशक्त माध्यम है। शालिनी अग्रवाल की कविताओं में देश और दुनिया के अनुभव समेटे हुए हैं जो गहरे अहसासों का प्रतिफल है।
वे जयपुर कला साहित्य संस्थान के तत्वावधान में आज युवा कवयित्री शालिनी अग्रवाल ‘सुकून’’ के दो काव्य संग्रहों ‘’सुकून की नज्में’’ और ‘’मेरे आसपास ‘’ का चेंबर भवन में लोकार्पण करते हुए मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे । वरिष्ठ शायर डॉ. मोहम्मद हुसैन ने अध्यक्षता की। वरिष्ठ व्यंग्यकार और कवि फारूक आफरीदी, एसीपी सुनील प्रसाद, पूर्व उपमहापौर पंकज शर्मा, शालिनी शर्मा,प्रमुख शायर इरशाद अजीज लोकार्पण अवसर पर मौजूद थे। जानी मानी कवयित्री डॉ. संगीता सक्सेना और उषा दशोरा ने शालिनी के इन काव्य के रचनात्मक पक्षों की समीक्षा प्रस्तुत की।
-डेस्क मधुमती
प्रो. अम्बिकादत्त शर्मा को मिला एकात्म पर्व सम्मान
सागर। आचार्य शंकर सांस्कृतिक एकता न्यास, संस्कृति विभाग, मध्य प्रदेश शासन के द्वारा आचार्य शंकर के प्रकटोत्सव पर्व पर एकात्म पर्व के अवसर पर देश के ख्यातिलब्ध दार्शनिक एवं प्राच्यविद डॉ. हरीसिंह गौर विवि सागर के मानविकी एवं सामाजिक विज्ञान के अधिष्ठाता प्रो अम्बिकादत्त शर्मा को आचार्य शंकर के वेदान्त दर्शन पर उनके द्वारा किये गये शोध कार्यों के लिए एकात्म पर्व सम्मान से सम्मानित किया गया. यह सम्मान उन्हें भोपाल स्थित कुशाभाऊ ठाकरे सभागार (मिन्टो हाल) में आयोजित समारोह में मध्य प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा शाल एवं प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर किया गया. इस समारोह में केरल के राज्यपाल श्री आरिफ मोहम्मद खान मुख्य अतिथि रहे एवं आर्ष विद्या मंदिर, राजकोट के मुख्य आचार्य स्वामी परमात्मानंद सरस्वती मुख्य वक्ता थे. ध्यातव्य है कि प्रो. शर्मा को आचार्य शंकर सांस्कृतिक एकता न्यास मध्य प्रदेश शासन के द्वारा वर्ष 2022-23 के लिए शोध कार्य हेतु आचार्य शंकर फेलोशिप प्रदान की गई है. विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता एवं कुलसचिव संतोष सोहगौरा सहित ने उनकी इस उपलब्धि पर बधाई दी है. उनके इस सम्मान पर विश्वविद्यालय परिवार ने उन्हें शुभाशंसा प्रेषित की है।
-डेस्क मधुमती